News And Article

          Snehlata Agrawal

21/08/2020

बिखरते परिवार , टूटता समाज और दम तोड़ते रिश्ते इस तथ्य को थोड़ा गहराई से पढिये

          Snehlata Agrawal

21/08/2020

अग्रवालों के इतिहास में ' अग्रसेन के बाद अग्रोहा का नाम भी सब नामों से अधिक प्रसिद्ध है ।अग्रसेन मूल पुरूष का नाम था तो अग्रोहा अग्रवालों के केन्द्र स्थान का नाम था ।महाराजा अग्रसेन के नाम पर हीं यह बसा था । यह स्थान कई सौ बर्षों तक अग्रवाल राजाओं की राजधानी रहा और...

          Snehlata Agrawal

21/08/2020

जाति - भेद भारत के सामाजिक जीवन की एक महत्त्वपूर्ण विशेषता है । जिस प्रकार की जाति -बिरादरियां भारत में हैं वैसी किसी अन्य देश में नहीं है ।जाति - भेद के विकास के अनेक कारण हैं । किसी एक हेतु से सब जाति - बिरादरियों की उत्पति की व्याख्या नहीं की जा सकती ।...

          Snehlata Agrawal

21/08/2020

(सन् १५८८ में अपने पूर्वजों के नारनौल से गया " बिहार" आने के पहले का अग्रवंश का संक्षिप्त इतिहास ) अग्रसेन --अग्रोहा -- अग्रवाल

          Snehlata Agrawal

21/08/2020

तीन पहर तो बीत गये,बस एक पहर ही बाकी है।जीवन हाथों से फिसल गया,बस खाली मुट्ठी बाकी है।सब कुछ पाया इस जीवन में,फिर भी इच्छाएं बाकी हैं।दुनिया से हमने क्या पाया,यह लेखा जोखा बहुत हुआ,इस जग ने हमसे क्या पाया,बस यह गणनाएं बाकी हैं।तीन पहर तो बीत गये,बस एक पहर ही बाकी है।जीवन हाथों से...

          Snehlata Agrawal

10/08/2020

मेरे पास अपने समाज का कोई ऐतिहासिक दस्तावेज तो नहीं है पर बचपन से अपने बहुत से बुजुर्गों से सुनते आया हूं उसका वर्णन जो मुझे ज्ञात है भेज रहा हूं ।

          Ranjan Agrawal

16/07/2020

गैर मुस्लिम लड़कियों को प्रेमजाल में फँसाकर मुस्लिम बनाओ तथा हर एक लड़की से 10-12 बच्चे पैदा कर उन्हें भी जिहाद के लिए तैयार करो |

          Avatar

14/07/2020

Whatsapp पर यह मुझे मिला । तथ्यों की सच्चाई के लिए मैंने रेंडमली कुछ नाम खोजे । तथ्य सही है। कुछ गलत मिले तो बताइएगा। यदि आप पढ़ नहीं सकते। बस नीचे स्क्रॉल करें । हैरान रह जाएंगे कि आप भारत मे रह रहे हैं या नेहरूगांधी देश मे। * स्टेडियम *: 1. इंदिरा गांधी...

          Ranjan Agrawal

14/07/2020

वसीयत एक महत्वपूर्ण कानूनी दस्तावेज है, जिसमें वसीयत बनाने वाला व्यक्ति (वसीयतकर्ता के रूप में जाना जाता है) व्यक्ति कहता है कि उसकी मृत्यु के बाद उसकी संपत्ति कैसे हस्तान्तरित की जाएगी। वसीयत वैधता सुनिश्चित करने के लिए वसीयत को सावधानीपूर्वक निष्पादित करना महत्वपूर्ण है। इस अनुच्छेद में हम देखेंगे कि एक वसीयत के लिए...

          Ranjan Agrawal

14/07/2020

एक पुरानी कहावत हैः जहां चाह, वहां राह। लेकिन एक उचित प्रकार से तैयार वसीयत के अभाव में आगे की राहें कई बार न केवल अनेकों बन जाती हैं बल्कि मुस्किल भी हो सकती हैं। बिड़ला परिवार, रैनबैक्सी परिवार, अम्बानी भाईयों या अपने पड़ोस के अंकल से पूछें। वे सभी सहमत होंगे कि पूरी दुनिया...

Help-Line(हेल्पलाइन):9973159269  | 7004230135

Scroll to Top